दीमक

"भ्रष्टाचार एक विकराल समस्या है जो शनै शनै देश को दीमक की भांति खोखला कर रही है।"
आचार्य उदय


2 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

और हम खड़े खड़े गुबार देखते रहते हैं।

सुशील बाकलीवास said...

और दीमक लगी की बढी.