गुलाम

“लालच व बेइमानी अदभुत शक्तियाँ हैं जो मनुष्य को अपना गुलाम बना लेती हैं।”

आचार्य उदय

5 comments:

Asha said...

बहुत सुन्दर |
आशा

sandhyagupta said...

solah ane sach.

प्रसन्न वदन चतुर्वेदी said...

ji haa....

दिगम्बर नासवा said...

न सिर्फ़ गुलाम ... इनसे छूटना भी मुश्किल है .....

सर्प संसार said...

सत्य वचन।
---------
क्या आप बता सकते हैं कि इंसान और साँप में कौन ज़्यादा ज़हरीला होता है?
अगर हाँ, तो फिर चले आइए रहस्य और रोमाँच से भरी एक नवीन दुनिया में आपका स्वागत है।