भाई-बहन

"भाई-बहन का प्यार जाति, धर्म, सम्प्रदाय, रंग-रूप, ऊंच-नीच, धन-दौलत के भेद-भाव से परे है जो नौंक-झौंक, तू-तू - मैं-मैं से ओत-प्रोत होता है"

आचार्य उदय

5 comments:

ललित शर्मा-للت شرما said...


ज्ञान रंजन अच्छा है आचार्य जी
सादर प्रणाम
आपको श्रावणी पर्व की हार्दिक बधाई

लांस नायक वेदराम!

राणा प्रताप सिंह (Rana Pratap Singh) said...

रक्षाबंधन के पावन पर्व कि ढेरों शुभकामनाएं

http://rp-sara.blogspot.com/2010/08/blog-post_23.html#comment-form

arvind said...

रक्षाबंधन के पावन पर्व कि ढेरों शुभकामनाएं

संगीता पुरी said...

सुंदर विचार .. रक्षाबंधन की बधाई और शुभकामनाएं !!

प्रवीण पाण्डेय said...

सच है।