धन, बल और बुद्धि

" धन, बल और बुद्धि इस संसार की अद्भुत शक्तियां हैं तीनों का अपना अपना प्रभाव महत्त्व है आपस में एक-दूसरे की तुलना करना उचित नहीं है। "

आचार्य उदय

2 comments:

Udan Tashtari said...

आभार!

प्रवीण पाण्डेय said...

सच बात पर समझने में कठिन जनमानस के लिये।