घमंड

"घमंड में चूर व्यक्ति सदैव ही स्वयं को श्रेष्ठ समझता है किन्तु वह यह भूल जाता है कि श्रेष्ठता घमंड से कोसों दूर होती है।"

आचार्य उदय

4 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

सच है।

Udan Tashtari said...

बिल्कुल सच!

महेन्द्र मिश्र said...

सटीक विचार प्रस्तुति...आभार उदय जी...

Apanatva said...

poorn roop se sahmat ise vichar se........