मन की शांति

मन क्यों उदास हो जाता है, मन की इच्छाएं क्यों असीमित हो जाती हैं, मन में लालसाएं व जिज्ञासाएं हर पल क्यों जन्म लेती हैं, क्यों मन की शांति के लिये भटकना पडता है, मन की शांति का उपाय क्या है !!!

मन चंचल है, भूखा-प्यासा है, लालची है, व्याकुल है, अस्थिर है!!!

मन पर नियंत्रण बेहद सरल कार्य है, जैसे ही मन में कोई इच्छा जागृत हो उसे तत्काल शांत कर दीजिये, मन को संदेश दो अभी रुक जाओ एक घंटे के बाद प्रयास करते हैं, चाय पीने की इच्छा जागृत हुई चाय पिओ पर एक घंटे के बाद, धीरे धीरे इस अवधि को बढाते जाईये ... आपका मन स्वमेव शांत होने लगेगा!!!!!

15 comments:

Akhtar Khan Akela said...

aadrniy aachaary ji aadaab mn ki shaantio ke liyen to ab aaapse lo lgaa kr kuch faarmule sikhnaa hi honge so plz. btaate rhiye or aashirvaad bnaaye rkhen. akhtar khan akela kota rajsthan

singhsdm said...

इस अशांति के माहौल में आपने मन को शांति प्रदान की है........आचार्य वर !

दिगम्बर नासवा said...

वाह .. आपका पहला वचन तो प्रयोग करने लायक है ... कहीं ऐसा तो नही होगा .. इच्छा को टालते टालते वो फट पड़े और तीव्र उत्कंठा से जागृत हो जाए ....

आचार्य जी said...

@दिगम्बर नासवा
वत्स
इच्छा को शनै शनै नियंत्रित करना है, यह प्रयोग धीरे धीरे अमल में लाना है, समय अवधि शनै शनै बढते जायेगी और एक समय आयेगा मन को पूर्णरुपेण शांति प्राप्त होने लगेगी।
आचार्य जी

arvind said...

acchi post, man ko shant karane ka sahi tarika apne bataaya. dhanyvaad.

माधव said...

nice

सुनील दत्त said...

जनाब हर रोज पाकसमर्थक मुसलिम आतंकवादी और चीन समर्थक माओवादी आतंकवादी कहर वर्पा रहें हैं ऐसे में हमारे जैसे लोगों का मन देश को इन गद्दारों से मुक्त किए विना शांत हो असम्वभव नहीं तो मुसकिल हैं।जिस दिन हमें चैन महसूस होता है उसी दिन ये लोग आम जनता का कत्ल कर हमें फिर असांत कर देते हैं और हम निकल पड़ते हैं देश को इन गद्दारों से मुक्त करने के उपाए तलासने।
आपको भी इन सेकुलर गद्दारों का कोई समाधान दिखे तो जरूर बताना जी।

सुनील दत्त said...

जनाब हर रोज पाकसमर्थक मुसलिम आतंकवादी और चीन समर्थक माओवादी आतंकवादी कहर वर्पा रहें हैं ऐसे में हमारे जैसे लोगों का मन देश को इन गद्दारों से मुक्त किए विना शांत हो असम्वभव नहीं तो मुसकिल हैं।जिस दिन हमें चैन महसूस होता है उसी दिन ये लोग आम जनता का कत्ल कर हमें फिर असांत कर देते हैं और हम निकल पड़ते हैं देश को इन गद्दारों से मुक्त करने के उपाए तलासने।
आपको भी इन सेकुलर गद्दारों का कोई समाधान दिखे तो जरूर बताना जी।

सुनील दत्त said...

जनाब हर रोज पाकसमर्थक मुसलिम आतंकवादी और चीन समर्थक माओवादी आतंकवादी कहर वर्पा रहें हैं ऐसे में हमारे जैसे लोगों का मन देश को इन गद्दारों से मुक्त किए विना शांत हो असम्वभव नहीं तो मुसकिल हैं।जिस दिन हमें चैन महसूस होता है उसी दिन ये लोग आम जनता का कत्ल कर हमें फिर असांत कर देते हैं और हम निकल पड़ते हैं देश को इन गद्दारों से मुक्त करने के उपाए तलासने।
आपको भी इन सेकुलर गद्दारों का कोई समाधान दिखे तो जरूर बताना जी।

हर्षिता said...

सही मार्ग बताया आपने आचार्य जी।

संजय भास्कर said...

हम निकल पड़ते हैं देश को इन गद्दारों से मुक्त करने के उपाए तलासने।

संजय भास्कर said...

Acharya ji namaskar...

मेरी हौसला अफज़ाई के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया.

sanjay bhaskar

Udan Tashtari said...

आत्मा तृप्त भई!

SANDEEP KUMAR said...

achary ji mere mn me hmesha kuch na kuch chlta rhta h jiske karn me bhut jada pryshan hota hu to uske liye me kya kru plz help me

SANDEEP KUMAR said...

sir koee meri problem ka bih to solution nikali na